Mahashivratri 2024: हर साल शिव भक्तों को महाशिवरात्रि व्रत का बेसब्री से इंतजार रहता है, शास्त्रों के अनुसार फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि के रूप में मनाया जाता है। इस दिन मंदिरों और शिवालयों में विशेष पूजा का आयोजन किया जाता है । भक्ते श्रद्धा, विश्वास के साथ व्रत रखकर विधि-विधान से महादेव की आराधना करते हैं। मान्यता है कि महाशिवरात्रि के दिन भगवान भोलेनाथ पृथ्वी पर मौजूद सभी शिवलिंग में विराजमान रहते हैं। आइये जानते है 2024 में महाशिवरात्रि कब है 8 या 9 मार्च व्रत किस दिन रखें और इस पावन दिन पर महादेव को क्या चीज अर्पित करना चाहिए.

Whatsapp Group
Whatsapp Channel
Telegram channel

महाशिवरात्रि 2024 में कब है

महाशिवरात्रि व्रत 8 मार्च शुक्रवार चतुर्दशी तिथि प्रारम्भ 08, मार्च 2024 को रात 09:57 मिनट चतुर्दशी तिथि समाप्त 09, मार्च 2024 को शाम 06:17 मिनट

निशिता काल पूजा का समय
08, मार्च की रात 12:07 मिनट से 12:56 मिनट

महाशिवरात्रि पारण समय
09 मार्च सुबह 06:37 मिनट से शाम 03:29 मिनट

रात्रि प्रथम प्रहर पूजा का समय
सायं 06: 25 मिनट से रात्रि 09:28 मिनट तक

रात्रि द्वितीय प्रहर पूजा का समय
रात्रि 09:28 मिनट से तड़के 12:31 मिनट तक

रात्रि तृतीय प्रहर पूजा का समय
तड़के 12:31 मिनट से 03:34 मिनट तक

रात्रि चतुर्थ प्रहर पूजा का समय
प्रातः 3:34 मिनट से 06:37 मिनट तक

महाशिवरात्रि 2024 पूजा विधि

महाशिवरात्रि के दिन सबह जल्दी उठकर अपने नित्यकर्मों से निवृत्त होकर स्नान करे और स्नान के बाद व्रत का संकल्प ले. इसके बाद पूजा स्थल को शुद्ध कर ले. पूजा में संपूर्ण शिव परिवार का पजन किया जाता है. सबसे पहले शिवलिंग को पंचामृत से स्नान कराकर पुनः गंगाजल से स्नान कराये. अब शिवलिंग या महादेव की प्रतिमा को चंदन का तिलक लगाएं और भस्म अर्पित करे.

Raksha Bandhan 2024: 19 या 20 अगस्त? जानिये कब है भाई-बहन का अटूट प्यार का त्योहार

महादेव को उनकी सभी प्रिय चीजे जो भी आपके पास उपलब्ध हो जैसे बेलपत्र, जायफल, फल-फूल, मिठाई, मीठा पान, इत्र आदि सभी अर्पित करें और उन्हें सफ़ेद चावलों की खीर का भोग लगाएं। इसके बाद महाशिवरात्रि व्रत कथा पढ़े और संपूर्ण शिव परिवार की आरती करे पंजा में शिव पंचाक्षरी मंत्र नमः शिवाय का जप करे. अगले दिन पारण के शुभ समय में व्रत का पारण करे.

महाशिवरात्रि के दिन क्या चढ़ाएं

शास्त्रों के अनुसार कई ऐसी चीजे हैं जो महादेव को अति प्रिय है मान्यता है कि अगर आप महाशिवरात्रि की रात्रि इनमें से कोई भी एक चीज शिवलिंग पर अर्पित कर देते हैं तो भगवान शिव के आशीर्वाद से आपकी सभी मनोकामनाएं पर्ण होती हैं महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग का दूध, दही, गंगाजल, घी और बेलपत्र से से अभिषेक करना चाहिए साथ ही महादेव को चावल गेहूं जौ तिल हरी साबुत मूंग चढाने पर धन धन्य बढ़ता है इसीलिए महाशिवरात्रि के दिन इनमे से जो भी चीज आपके पास उपलब्ध हो महादेव को जरूर अर्पित करें

महाशिवरात्रि उपाय

इस खास दिन पर पांच मुखी रुद्राक्ष को पानी से साफ करके सुखा लें। सूखने के बाद इसे अपने बाएं हाथ में रखें और दाएं हाथ से बंद करके अपनी मनोकामना बोले और इसके बाद इसे सुरक्षित व स्वच्छ स्थान पर रख दें आपकी मनोकामना पूरी होगी.

महा शिवरात्रि के दिन 21 बेलपत्र लेकर सभी पर चंदन से ‘ॐ नमः शिवाय‘ लिख कर शिवलिंग पर अपनी इच्छा बोलते हुए चढ़ा दें।

शास्त्रों की मानें तो महाशिवरात्रि की रात ही भगवान शिव करोड़ों सर्यों के समान प्रभाव वाले ज्योतिर्लिंग के रूप में प्रकट हुए थे। इसीलिए मान्यता है की इस दिन कुछ विशेष उपाय कर महादेव को प्रसन्न करने के साथ ही कैसी भी मनोकामना को पूरा किया जा सकता है, इस दिन विशेष उपाय के रूप में शिवलिंग का पंचामृत से अभिषेक करें। महाशिवरात्रि के प्रथम पहर में संकल्प लेकर दूध से शिवलिंग को स्नान कराने के बाद ॐ ह्रीं ईशानाय नमः का जाप करें।

Previous articleराम मंदिर के 15 अनोखे रहस्य जो आपको दंग कर देंगे!
नमस्कार, मेरा नाम Krishna है, और मैं जयपुर, राजस्थान से हूँ। मैं B.A. की डिग्री है और मेरा शौक है धार्मिक गानों और पूजा-पाठ से जुड़े पोस्ट लिखने का। वेबसाइट पर चालीसा, भजन, आरती, व्रत, त्योहार, जयंती, और उत्स से जुड़े पोस्ट करते हैं। मेरा उद्देश्य धार्मिक ज्ञान को Shared करना और भगवान की भक्ति में लोगों की मदद करना है। धार्मिक संगीत और पूजा मेरे लिए खुशी और शांति का स्रोत हैं। और हमारे Social Media Platform पर हमसे जुड़ सकते हैं। धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here